बवासीर को कैसे ठीक करें ~ harbalist.com ".

बवासीर को कैसे ठीक करें

बवासीर 

bawaseer

harbalist.com
पाइल्स 

बवासीर को जड़ से खत्म करने का इलाज | यह बीमारी दो प्रकार की होती है | खूनी बवासीर और बादी यह बीमारी महिला और पुरुष दोनों को हो सकती है | खूनी बवासीर यह बीमारी मलद्वार में होती है बवासीर की बीमारी में मलद्वार में मस्से हो जाते हैं | जो अंदर और बाहर दोनों तरफ होते हैं | खूनी बवासीर में मस्से से खून आता है | जब यह रोग अधिक बढ़ जाता है | तब मस्ते भी बाहर आने लगते हैं और मलद्वार में सूजन आ जाती है | खून अधिक मात्रा में निकलता है | रोगी उठ बैठ नहीं पाता है | बवासीर का इलाज जल्दी करा ले लापरवाही आपको ऑप्रेशन तक ले जा सकती है |

बवासीर क्यों होती है?


 बादी बवासीर की वजह से पेट खराब रहता है | कब्ज बनी रहती है गैस बनती है और पेट में खराबी लगातार बनी रहती है | इसमें मस्से मलद्वार के अंदर होते हैं | तब यह रोग अधिक बढ़ जाता है और सूजन बढ़ जाती है | तब यह बाहर आने लगते हैं | रोगी को मल त्याग करने और उठने बैठने में बहुत परेशानी होती है | इनमें खुजली,जलन,दर्द बहुत होता है |   जब बवासीर का  रोग अधिक बढ़ जाता है | कुछ लोग ऐसे फिशर,फिस्टुला भी कहते हैं | जब यह बहुत अधिक बढ़ जाता है | तब बवासीर रोगी को डॉक्टर ऑपरेशन करने की सलाह देते हैं | बवासीर के ऑप्रेशन में हजारो रूपए खर्च हो जाते हैं |बवासीर का रोगी महीनो बिस्तर पर पड़ा रहता है | तब जाकर वो ठीक हो पता है |  

बवासीर से बचाव


 ज्यादा दिनों तक पेट में कब्ज रहने से यह बवासीर जन्म लेती है यदि इस बवासीर को जड़ से समाप्त करने के लिए मलद्वार की साफ सफाई नियमित करें और कब्ज लिए आप तिफ्ला चूर्ण का प्रयोग करे | बवासीर  को जड़ से खत्म करने का इलाज हम बताने जा रहे हैं | जिनका प्रयोग करके आप बवासीर जैसी बीमारी से छुटकारा पा सकते हैं | कई लोग इन उपायों को करके स्वस्थ हो चुके हैं |  

  

बवासीर का इलाज 


  • बवासीर के रोग में  पान के पांच पत्ते  पीसकर गोली बना ले इस गोली को कपड़े में रखकर गुदा मार्ग पर बांधने से बहुत अधिक लाभ मिलता है और मस्से सूख कर गिर जाते हैं | बवासीर के दर्द में भी आराम मिलता है | 


  • बवासीर के इलाज में  दो सूखे अंजीर एक गिलास पानी में  डालकर रख दें | सुबह उठकर खाली पेट खूब चबा चबाकर खाएं और ऊपर से पानी पीने से आपको बवासीर में  बहुत लाभ मिलेगा | 


बवासीर में ईसबगोल के फायदे

  • बवासीर को ख़त्म करने से पहले कब्ज खत्म करे उस के लिए एक चम्मच ईसबगोल की भूसी को एक गिलास पानी में डालकर रख दें | इसमें मिश्री डालने के बाद सुबह खाली पेट इसे पी ले | इसके सेवन से आपके पेट की कब्ज और मल त्याग करने में जलन नहीं होगी | बवासीर में बहुत अधिक लाभ मिलेगा

     
  • बवासीर रोग में त्रिफला चूर्ण का सेवन सोने से पहले एक चम्मच त्रिफला चूर्ण गुनगुने पानी के साथ सेवन करें | इसके सेवन करने से आपको कब्ज से मुक्ति मिलेगी और बवासीर के रोग से छुटकारा मिलेगा |



बवासीर में परहेज क्या करे


बवासीर रोग में चाय पीना छोड़ दें, शराब, बीड़ी, सिगरेट का सेवन ना करें | ज्यादा तेल मसालेदार भोजन ना करें, भोजन ठंडा करके खाएं, ठंडी चीजें ज्यादा खाएं | फलों का रस, हरी सब्जी या हरी सब्जियों का जूस अधिक से अधिक मात्रा में सेवन करें | पानी ज्यादा पिए, मांस, मछली ,चावल ,उड़द की दाल ,राजमा, खटाई का सेवन बिल्कुल ना करें |


Previous
Next Post »