baby care tips ~ harbalist.com ".

baby care tips

baby care बच्चे की देखभाल 




baby care



बच्चों की देखभाल (babycare) करना हर किसी को मालूम नहीं होता है | थोड़ी सी लापरवाही बच्चों के लिए हानिकारक हो सकती है | जीरो से 1 साल तक के बच्चों को गोद लेते समय बहुत सावधानी रखने की जरूरत होती है | छोटे बच्चे अपनी गर्दन नहीं संभाल सकते इसलिए एक हाथ गर्दन पर और एक हाथ कमर पर होना चाहिए | पैदा होते ही बच्चे को सबसे पहले उसकी मां का दूध ही पिलाएं यह बच्चों के लिए सर्वोत्तम है | बच्चों की देखभाल (babycare) के लिए उनकी साफ सफाई का ज्यादा ध्यान रखें |  बच्चों के रोज कपड़े बदले,प्रतिदिन उनकी मालिश करें,सरसों का तेल उत्तम होता है | मालिश के लिए  सर्दी है तो डाबर लाल तेल,तिल का तेल,या जैतून के तेल से मालिश प्रतिदिन करनी चाहिए | बच्चों के खेलने वाले खिलौने मुलायम होने चाहिए जिनसे उन्हें चोट ना पहुचे|सर्दी गर्मी बरसात तीनों मौसम में अलग-अलग तरीके से बच्चों की देखभाल (babycare) करना बहुत जरूरी है


newborn baby winter care tips in hindi



baby care

सर्दी में बच्चों की देखभाल (babycare) सर्दी में बच्चों को गर्म कपड़े पहनाए सर्दी में बच्चे की स्किन रूखी और बेजान हो जाती है | बच्चे की स्किन पर अच्छे मॉस्चराइज़र क्रीम या बॉडी लोशन का प्रयोग करें | कस्तूरी की एक गोली प्रतिदिन बच्चे को दूध में घोलकर खिलाएं | इससे बच्चे को सर्दी जुकाम खांसी से  बचाव होगा |सेहुड़ के पत्ते को गर्म करके उसका रस एक चम्मच पिलाने से बच्चे की खांसी ठीक हो जाती है | 





bachon ki khansi ka desi ilaj in hindi



baby care

बच्चों को खांसी होने पर निम्न उपचार करें  

बच्चों को खांसी होने पर उनके पैर के तलवों में गुनगुना सरसों का तेल लगाने से बच्चों को सर्दी और खांसी से बचाव होता है |
 बच्चों को खांसी होने पर बच्चों वाली विक्स उनके गले और सीने में लगा देने से बच्चे को सर्दी और खांसी में राहत मिलती है |
 खांसी होने पर बच्चे को दूध में जायफल घिसकर पिलाने से सर्दी खांसी दूर होती है| 
बच्चो को अधिक खांसी होने पर लक्ष्मी विलास रस शहद में मिलाकर खिलाने से खांसी समाप्त हो जाती है | बच्चों को ज्यादा मीठी चीजें टॉफी चॉकलेट कैंडी ना दें इनके सेवन से खांसी और भी बढ़ जाती है | बच्चों को खांसी होने पर आधा चम्मच अदरक का रस और आधा चम्मच शहद मिलाकर बच्चों को पिलाने से खांसी में तुरंत आराम मिलता है | 





baby care tips


  • बच्चे को जब भी दूध पिलाया करे दूध पिलाने के बाद उसे कंधे से लगाकर कुछ देर थपकी दे देने से बच्चा दूध नहीं डालेगा |  
  • गर्मियों में बच्चे को दस्त होने पर ors का घोल पिलाएं| या नमक चीनी का घोल पिलाएं | 
  • बच्चे के शरीर में पानी की कमी ना होने दें समय समय पर उसे दूध के साथ पानी भी पिलाते रहे | 
  • बच्चे ज्यादा पानी नहीं पीते हैं | ऐसे में बच्चों को नींबू पानी,शरबत,लस्सी,जूस या आइसक्रीम बनाकर पानी की पूर्ति करें | 
  • बच्चों को बरसात में हमेशा सूखे कपड़े पहनायें क्योंकि छाया में सूखे हुए कपड़ों में कीटाणु बहुत होते हैं | कपड़ो को सुखाने के लिए प्रेस या रूम हीटर का इस्तेमाल कर सकते हैं |

  •  बच्चों धूप से आने के बाद तुरंत ही को ठंडा पानी पीने को नहीं देना चाहिए क्योंकि पानी पीने के बाद उनके शरीर का टेंपरेचर गर्म से ठंडा होता है और वे बीमार पड़ जाते हैं |
  • गर्मी में बच्चों को स्कूल जाते समय उनकी पानी की बोतल में ग्लूकोज मिलाकर देने से बच्चे पूरा दिन तरोताजा महसूस करते हैं 
  • बच्चों को पेट दर्द होने पर ग्राइप वाटर या जन्म घुट्टी बच्चों को पिलाना चाहिए इससे उनका पेट साफ रहता है |    
  • बच्चों के नहाने के पानी में एक चम्मच डेटोल या फिर नीम की पत्तियां डाले हुए पानी को उबालकर ठंडा किया हुआ नहाने को दे |इसके प्रयोग से बच्चों को फुंसी,खाज,खुजली नहीं होती है | 
  • बच्चों को पेट दर्द होने पर उनकी नाभि के चारों तरफ हींग का लेप लगा देना चाहिए जिससे पेट दर्द छूमंतर हो जाता है |   
  • बच्चों की देखभाल के लिए बेबी केयर प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करना चाहिए जैसे शैंपू,साबुन और पाउडर,तेल इनके प्रयोग से बच्चों की आंख,नाक,स्किन को कोई नुकसान नहीं पहुंचता| 
  • प्रतिदिन बच्चों की मालिश करें | 

Previous
Next Post »