लकवा का इलाज इन हिंदी Treatment of paralysis in hindi ~ harbalist.com ".

लकवा का इलाज इन हिंदी Treatment of paralysis in hindi

लकवा का इलाज इन हिंदी 

paralysis Treatment of in hindi



harbalist.com
                 
                       लकवा





लकवा का इलाज इन हिंदी Treatment of paralysis in hindi के बारे में आज हम बताने जा रहे है |
लकवा paralysis रोगियों के लिए वरदान है| यह स्थान यहां लकवा रोग का मुफ्त संपूर्ण निदान होता है| यहां लाखों लोग आते हैं और अपने रोग को समाप्त करके जाते हैं| कुछ लोग तो चारपाई पर लेट कर आते हैं और अपने पैरों पर चल कर जाते हैं| मैं स्वयं यहां पर गया तो मैंने वहां पर पता किया यह कैसे होता है | यहां कोई डॉक्टर नहीं है ना ही यहां कोई दवा दी जाती है फिर भी हजारों लकवा के रोगी ठीक हो घर जाते हैं|

यदि आपके आसपास कोई लकवा रोगी है | उस तक यह जानकारी अवश्य पहुंचाएं जिससे वह भी अपनी बीमारी का इलाज यहां जाकर मुफ्त में करा सके यहां इलाज कैसे होता है | इसके बारे में हम आपको बताते हैं| बुटाटी धाम के अंदर संत चतुरदास जी महाराज की समाधि है इस समाधि के 7 परिक्रमा लगाने पड़ते हैं|  रोगी को हर रोज एक चक्कर लगाना पड़ता है| 7 दिन में 7 परिक्रमा,आरती ,सातों दिन वहां पर बने एक कुंड से भभूति लेकर लकवा के रोगी के शरीर पर लगाई जाती है| यही लकवा का इलाज की पूरी प्रक्रिया है| रोगी और उसके परिजनों के लिए 7 दिनों तक ठहरने और रहने की यहां पूरी व्यवस्था है | वह भी बिल्कुल मुफ्त है | यहां रहने के लिए कमरा बर्तन लकड़ी जलाने के लिए खाना पकाने के लिए सब कुछ यहां मिल जाता है| यहां जाने से पहले कुछ सामान अपने साथ ही अगर ले जाना चाहे तो ले जा सकते हैं |


 मंदिर के बाहर लॉज गेस्टहाउस भी है| और यहाँ आटा दाल चावल और जरुरत का अन्य सामान यहाँ मिल जाता है|  मंदिर परिसर के सदस्यों से पूछने के बाद उन्होंने बताया कि संत चतुरदास जी लकवा के रोगी का इलाज किया करते थे |  तभी से यह आस्था का केंद्र है| उनके ना रहने के बावजूद भी उनकी सिद्ध शक्तियां आज भी उनकी समाधि में मौजूद हैं|  हमने स्वयं कई रोगियों से बात की उन्होंने बताया कि यहां आने से उनका रोग बिल्कुल समाप्त हो गया  इससे बड़ा सबूत और क्या चाहिए लकवा का इलाज  में हमें|  हम आपको  इस स्थान तक पहुंचने का पूरा पता बताते हैं | जिससे कि आपको पहुंचने में किसी भी प्रकार की परेशानी ना हो यदि आपको किसी भी प्रकार की परेशानी होती है|  पहुंचने में तो हम आपको कुछ फोन नंबर मंदिर परिसर के सदस्यों के उपलब्ध करा रहे हैं |यह नंबर बुटाटी धाम के ही है| ज्यादा से ज्यादा जानकारी आप उनसे पूछ सकते हैं|


 बुटाटी धाम जाने का पूरा पता


 बुटाटी धाम चतुरदास जी महाराज का मंदिर ग्राम कुचेरा जिला नागौर राजस्थान अजमेर- नागौर रोड पर यह पड़ता  हैमोबाइल नंबर =01584 -2480021- ऑफिस  गुलाब सिंह -9799016430 रतन सिंह -9413722949 



ये जानकारी सभी तक पहुंचने में हमारी सहायता करे जिससे लकवा रोगी यहाँ आकर अपना इलाज मुफ्त में करा पाए व्हाटसप  फेसबुक पर भी शेयर जरूर करे | 
Previous
Next Post »