टीबी से बचने के उपाय TB se bachne ke upay ~ harbalist.com ".

टीबी से बचने के उपाय TB se bachne ke upay

21 दिन में टीबी से बचने के उपाय  21 din me TB se bachne ke upay


harbalist.com

 टीबी


टीबी TB रोग से कोई भी ग्रस्त हो सकता है | टीबी से बचने के उपाय किसी टीबी रोगी को खुले में खांसी या छींकना टीबी रोग पैदा करने वाले जीवाणु रोगी के मुंह से बाहर आ जाते हैं और दूसरे व्यक्ति संक्रमित हो जाते हैं | एक टीबी रोगी कई लोगों को संक्रमित कर सकता है|  हर साल लाखों लोग दुनिया में मर जाते हैं और करोड़ों लोग इस बीमारी से संक्रमित हो जाते हैं |

टीबी TB मरीज के यहाँ-पर वहां थूक देने से टीबी के जीवाणु बाहर आकर स्वस्थ व्यक्ति के नाक या मुँह से 
शरीर में प्रवेश करके उसे रोगी बना देते हैं | दवाओं का सेवन बताई हुई अवधि तक पूरा ले | दवाई बीच में छोड़ देने से यह रोग समाप्त नहीं होगा और फिर से रोगी रोग ग्रस्त हो जाएगा | टीबी TB रोग से बचने के लिए व्यक्ति को मास्क का प्रयोग करना चाहिए| रुमाल से मुंह को ढक कर रखना चाहिए | रोगग्रस्त पशु का मांस खाने से बचना चाहिए| टीबी से संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में जाने से बचे | टीबी रोगी का जूठा खाना न खाये | उसका तौलिया साबुन या किसी भी प्रकार का सामान अपने प्रयोग में न ले | ये सभी टीबी से बचने के उपाय है  | 


   टीबी के नुकसान TB ke nuksan 


टीबी एक बहुत ही जानलेवा बीमारी है| यह बीमारी संक्रमण से फैलती है | टीबी का इलाज यदि सही समय पर ना किया जाए तो इसमें रोगी की मृत्यु भी हो सकती है| इसमें रोगी के फेफड़ों पर कफ जम जाता है| खांसी ज्यादा आती है | जब यह अधिक बढ़ जाती है| टीबी के रोगी को बलगम के साथ खून भी आने लगता है | तो यह टीबी  का रूप ले लेता है|टीबी का रोगी दिन-ब-दिन दुबला पतला होता चला जाता है| टीबी रोगी ज्यादा मेहनत का कार्य नहीं कर सकता थोड़ी सी मेहनत करने के बाद ही उसकी सांस फूलने लगती है और खांसी आने लगती है| टीबी का सही समय पर इलाज होने से रोगी ठीक भी हो जाता है |



क्या टीबी दोबारा हो सकता है ?kya TB dobara ho sakta hai ?

टीबी का रोग दोबारा हो सकता है| दवाइयों का पूरा कोर्स ना करने के कारण टीबी रोग दोबारा हो सकता है टीबी  रोगी के संपर्क में जाने से आपको यह रोग दोबारा हो सकता है किसी टीबी रोगी के दूषित खून को चढ़ाने से टीबी  रोग दोबारा हो सकता है| 

टीबी का सरकारी इलाज  TB ka sarkari ilaj 


 3 हफ्तो  से अधिक आपको खांसी है तो अपने बलगम की जांच कराएं| टीबी का सरकारी इलाज
  सरकारी स्वास्थ्य केंद्र में निशुल्क किया जाता है | टीबी रोग के लिए डॉट टेबलेट मुफ्त दी जाती है | अपने शहर के सरकारी स्वास्थ्य केंद्र पर जाकर अपना चेकअप अवश्य कराएं | मुफ्त दवाएं लेकर सेवन करें|और अपनी समय समय पर जाँच करते रहे जब तक पूरी तरह टीबी  ठीक न हो जाये |

टीबी का देशी इलाज TB ka deshi ilaj 



  •  पीपल के वृक्ष की छाल का पाउडर बना लें सुबह शाम एक चम्मच बकरी के गर्म दूध के साथ सेवन करने से टीबी  रोग हमेशा के लिए समाप्त हो जाता है| 



  •  टीबी के रोगी को दिन में चार बार पानी की भाप लेना बहुत फायदेमंद होता है| इससे रोगी के फेफड़ों में चिपका हुआ बलगम पिघल कर समाप्त हो जाता है और रोगी को बहुत ज्यादा लाभ मिलता है| 



  •  टीवी के रोगी को लहसुन का सेवन अधिक करना चाहिए हो सके तो लहसुन को कूटकर शहर के साथ सेवन कर सकता है| इससे रोग जड़ से समाप्त हो जाता है| 

  •  अदरक के रस को शहद में मिलाकर दिन में 3 बार पीने से टीबी रोग जड़ से मिट जाता है| 

  • पत्थर वाले कोयले की रख जो पूरी तरह जल गया हो रख सफ़ेद होना चाहिए १ ग्राम की मात्रा सुबह शाम मक्खन के साथ या दूध के साथ रोगी के देने से टीबी रोग जड़ से समाप्त हो जाता है| ये रामबाण इलाज है

टीबी में परहेज   TB me parhej 

 तंबाकू, बीड़ी, सिगरेट, गुटखा और शराब इनका सेवन बिल्कुल बंद कर दो | ज्यादा फैट,ज्यादा कैस्ट्रोल वाले मांस को खाने से बचें| ज्यादा तेल, मसाले और तले हुए भोजन का परहेज करें|  घी, तेल ,अचार, खटाई का सेवन कम से कम मात्रा में करें | टीबी रोगी को चीनी, चावल, चाय ,कॉफी का प्रयोग बहुत कम मात्रा में करें| 
Previous
Next Post »