अर्थराइटिस का इलाज एक बार में ~ harbalist.com ".

अर्थराइटिस का इलाज एक बार में

 अर्थराइटिस (Arthritis) 

harbalist.com
अर्थराइटिस

अर्थराइटिस(Arthritis)का इलाज आयुर्वेद में संभव है | अर्थराइटिस(Arthritis) रोग का असर घुटनों में ज्यादा पाया जाता है | जब यह रोग अधिक बढ़ जाता है | तब शरीर के सभी जोड़ दर्द करने लगते हैं |  इसे भारत में गठिया रोग कहा जाता है | यह पुरुषों और महिलाओं में भी यह रोग अधिक होता है | 50 साल के ऊपर के लोगों में अर्थराइटिस(Arthritis) रोग अधिक पाया जाता है | हमारे शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ जाने पर ये रोग हो जाता है | लाखो लोग इस रोग से परेशान है | बुजुर्ग लोग इस रोग से ज्यादा पीड़ित होते है | अर्थराइटिस का इलाज एक बार में हमेशा के लिए ठीक किया जा सकता है

 अर्थराइटिस(Arthritis) के लक्षण 


 अर्थराइटिस(Arthritis) रोग में शरीर के सभी जोड़ों में दर्द, घुटनों का दर्द , घुटनों में सूजन और लालामी सी हो जाती है | अर्थराइटिस (Arthritis)रोग का असर ज्यादातर घुटनों, कुहनियो ,उंगलियों और पैरों में होता है इनमें बहुत ज्यादा दर्द होता है और घुटनों में ज्यादा दर्द होने के कारण रोगी चल नहीं पाता है | जिस कारण उसका जीवन नर्क समान हो जाता है पुरे शरीर में कमज़ोरी हो जाती है रोगी को उठने बैठने में बहुत परेशानी का सामना करना पड़ता है | ये रोग सर्दी में ज्यादा असर करता है | गर्मी में इसका असर थोड़ा कम होता है | 

अर्थराइटिस(Arthritis) का घरेलू उपचार

harbalist.com
दालचीनी 


  • दालचीनी घुटनो की सूजन कम करती है और रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाती है | दालचीनी के पावडर की एक चम्मच और एक चम्मच शहद मिलकर रोज सेवन करे | 

  • हल्दी,मेथी और सोंठ 50 -50 ग्राम का पाउडर बना ले सुबह-शाम १ चमच गरम पानी के साथ सेवन करने से अर्थराइटिस(Arthritis) ठीक हो जाता है | 



  •  हल्दी १ चम्मच,1 चम्मच शहद ,मटर के बराबर चुना सब का पेस्ट बनाकर रात को घुटनो पर लगा कर सोये | सुबह गुनगुने पानी से धो ले | घुटनो की सूजन और दर्द में आराम मिलता | 

  • हरा पुदीना 50 ग्राम 1 लीटर पानी में डालकर उबाले जब ये पानी 500 ग्राम बचे | तब इसे उतार कर ठंडा कर ले और सुबह-शाम एक गिलास पानी सेवन करे | 

  • लहसुन ,गाजर,चुकंदर के रस का सुबह शाम सेवन करने से आर्थराइटिस(Arthritis)से छुटकारा  मिलता है | 


 अर्थराइटिस का आयुर्वेदिक उपचार 


  सोंठ 100 ग्राम, चंद्र शूल के बीज100 ग्राम,आमा हल्दी100 ग्राम,लहसुन100 ग्राम, कैस्टर ऑयल 100 ग्राम, अलसी का तेल100 ग्राम गैस पर कढ़ाई रखकर कढ़ाई में दोनों तेल डाल दें और उसने लहसुन पीसकर डाल दें जब झाग आना बंद हो जाए तब आमा हल्दी सोंठ चंद रसूल के बीज का पाउडर कढ़ाई में डालें जब पाउडर पूरा तेल सोख ले तो कढ़ाई को उतार लें और ठंडा कर लें | औषधि तैयार हो गई इसे एक कांच के बर्तन में भरकर रख लें | खाना खाने से आधा घंटे पहले 10 ग्राम सुबह शाम गर्म दूध के साथ सेवन करें | किसी भी प्रकार का घुटनों का दर्द ,यूरिक एसिड बढ़ा हुआ, गठिया,, जोड़ों का दर्द अर्थराइटिस(Arthritis)सभी रोगों को हमेशा के लिए समाप्त कर देती है | यह औषधि यह रामबाण प्रयोग है | इसे मैंने स्वयं आजमाया हुआ है |

 अर्थराइटिस (Arthritis)में परहेज


 फूलगोभी,उड़द की दाल ,राजमा, छोले, चावल, दही, खटाई, अचार, और बादी चीजें नहीं खानी है | कोल्ड्रिंक, फ्रिज का पानी,आइसक्रीम नहीं खाना चाहिए | 
Previous
Next Post »